#quoteoftheday Instagram Photos & Videos

quoteoftheday - 35.7m posts

Top Posts

Latest Instagram Posts

  • 💫 It took me a while to understand this quote. The whole universe is within you and you are connected to it all, all that you want 💫
  • 💫 It took me a while to understand this quote. The whole universe is within you and you are connected to it all, all that you want 💫
  • 0 1 28 seconds ago
  • ❤️
  • ❤️
  • 0 1 2 minutes ago
  • आजकल मैं खुद से संघर्ष करता हूँ
अपनी ही बातों में खुद से झगड़ता हूँ
ना जाने कौन से दोराहे पर आकर खड़ा हूँ पल पल जीता हूं ,पल पल मरता हूं
एक तरफ कैरियर की चिंता
पल पल मुझे सताती है
तो दूसरी तरफ रोज रोज माई 
वापस घर पर बुलाती है।
एक तरफ ऊंचे उजले सपने है 
तो एक तरफ गुम होते अपने है ।
एक तरफ कुछ बन जाने का आकार है
तो दूसरी तरफ धागों में उलझा हुआ 
बहन का प्यार है 
एक तरफ नए नवेले कुछ रिश्ते है ।
तो दूसरी तरफ गांव में जुड़े फरिश्ते है
एक तरफ नफरत है दुख है अकेलेपन की बहार है
दूसरी तरफ प्रेम है,दुलार है, सत्कार है
एक तरफ घुटती टूटती आशाएं है 
दूसरी तरफ भेद विज्ञान है,जिज्ञासाएं है
पिता जी का हाल भी घर पर बुरा है
गांव वापस बुलाने को कलेजा दे रखा है 
घर के बुजुर्ग भी रो-रो 
आंसू का निमंत्रण पहुँचाते है
और हम इधर रहकर भी शांत और सचुकते है 
होंठो पर झूठी हंसी खुश होने के कितने नाटक झेले है 
वक्त ने चौराहे पर लाकर खड़ा कर दिया 
जहां हम बिल्कुल अकेले है 
मन में द्वंद है ,असमंजस्य है ,पीड़ा है 
कोई दिखता नही आसपास, तनहाइयों का बीड़ा है 
खुद से लड़ना,खुद में खो जाना 
सारे प्रश्नों का उत्तर तुम्हें तुममे खुद से पाना है 
घबराओ नही वक्त का दरिया खुद से पिघलेगा
आज नही तो कल सब समस्याओं का हल भी निकलेंगा 
जो मिला है चुपचाप सहते जाओ 
मंजिल खुद आकर मिलेगी तुम बस चलते जाओ
शुभांशु 
Read my thoughts on @YourQuoteApp #yourquote #quote #stories #qotd #quoteoftheday #wordporn #quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #thoughts #poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub
  • आजकल मैं खुद से संघर्ष करता हूँ
    अपनी ही बातों में खुद से झगड़ता हूँ
    ना जाने कौन से दोराहे पर आकर खड़ा हूँ पल पल जीता हूं ,पल पल मरता हूं
    एक तरफ कैरियर की चिंता
    पल पल मुझे सताती है
    तो दूसरी तरफ रोज रोज माई
    वापस घर पर बुलाती है।
    एक तरफ ऊंचे उजले सपने है
    तो एक तरफ गुम होते अपने है ।
    एक तरफ कुछ बन जाने का आकार है
    तो दूसरी तरफ धागों में उलझा हुआ
    बहन का प्यार है
    एक तरफ नए नवेले कुछ रिश्ते है ।
    तो दूसरी तरफ गांव में जुड़े फरिश्ते है
    एक तरफ नफरत है दुख है अकेलेपन की बहार है
    दूसरी तरफ प्रेम है,दुलार है, सत्कार है
    एक तरफ घुटती टूटती आशाएं है
    दूसरी तरफ भेद विज्ञान है,जिज्ञासाएं है
    पिता जी का हाल भी घर पर बुरा है
    गांव वापस बुलाने को कलेजा दे रखा है
    घर के बुजुर्ग भी रो-रो
    आंसू का निमंत्रण पहुँचाते है
    और हम इधर रहकर भी शांत और सचुकते है
    होंठो पर झूठी हंसी खुश होने के कितने नाटक झेले है
    वक्त ने चौराहे पर लाकर खड़ा कर दिया
    जहां हम बिल्कुल अकेले है
    मन में द्वंद है ,असमंजस्य है ,पीड़ा है
    कोई दिखता नही आसपास, तनहाइयों का बीड़ा है
    खुद से लड़ना,खुद में खो जाना
    सारे प्रश्नों का उत्तर तुम्हें तुममे खुद से पाना है
    घबराओ नही वक्त का दरिया खुद से पिघलेगा
    आज नही तो कल सब समस्याओं का हल भी निकलेंगा
    जो मिला है चुपचाप सहते जाओ
    मंजिल खुद आकर मिलेगी तुम बस चलते जाओ
    शुभांशु
    Read my thoughts on @YourQuoteApp #yourquote #quote #stories #qotd #quoteoftheday #wordporn #quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #thoughts #poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub
  • 1 0 2 minutes ago
  • Time not exist anymore for me!
Is world still going on..........
  • Time not exist anymore for me!
    Is world still going on..........
  • 1 1 5 minutes ago
  • 👉🏼Showing up, owning your story, and living authentically and unapologetically often goes against the grain. And that’s ok. Do it anyway- get comfortable being the exception!☀️
  • 👉🏼Showing up, owning your story, and living authentically and unapologetically often goes against the grain. And that’s ok. Do it anyway- get comfortable being the exception!☀️
  • 2 1 5 minutes ago
  • ~
  • ~
  • 2 1 21 minutes ago
  • 3 1 12 hours ago
  • “To coalesce our will in accordance to God’s will is the essence of self-denial.” —Stephen Tong
  • “To coalesce our will in accordance to God’s will is the essence of self-denial.” —Stephen Tong
  • 333 4 17 September, 2019